Santoshi Mata Ke Bhajan

Santoshi Mata Ke Bhajan Lyrics

🎧 Short information

Viewed as an indication of Maa Durga. She is the Goddess of euphoria and fulfillment. Accepted to be the girl of Lord Ganesha, she is a compassionate type of Goddess Durga, who is unadulterated and fragile. To satisfy Santoshi Mata, aficionados notice Santoshi Maa Vrat Katha for 16 nonstop Fridays. Santoshi Mata Ke Bhajan.

🎧 Credit

Song:- Yaha Waha Jaha Taha Mat Puchho Kaha Kaha Hai
Singer:- Mahendra Kapoor
Actors:- Kanan Kaushal, Ashish Kumar, Anita Guha & Bharat Bhushan
Film:- Jai Santoshi Maa (1975)
Music Label : Bhakti Ganga

🎧 Lyrics

Santoshi Mata Ke Bhajan

यहाँ वहाँ जहाँ तहाँ, मत पूछो कहाँ-कहाँ है सँतोषी माँ !
अपनी सँतोषी माँ, अपनी सँतोषी माँ…
जल में भी थल में भी, चल में अचल में भी, अतल वितल में भी माँ !
अपनी सँतोषी माँ, अपनी सँतोषी माँ…

बड़ी अनोखी चमत्कारिणी, ये अपनी माई
राई को पर्वत कर सकती, पर्वत को राई
द्धार खुला दरबार खुला है, आओ बहन भाई
इस के दर पर कभी दया की कमी नहीं आई
पल में निहाल करे, दुःख का निकाल करे, तुरंत कमाल करे माँ !
अपनी सँतोषी माँ, अपनी सँतोषी माँ…

इस अम्बा में जगदम्बा में, गज़ब की है शक्ति
चिंता में डूबे हुय लोगो, कर लो इस की भक्ति
अपना जीवन सौंप दो इस को, पा लो रे मुक्ति
सुख सम्पति की दाता ये माँ, क्या नहीं कर सकती
बिगड़ी बनाने वाली, दुखड़े मिटाने वाली, कष्ट हटाने वाली माँ !
अपनी सँतोषी माँ, अपनी सँतोषी माँ…

गौरी सुत गणपति की बेटी, ये है बड़ी भोली
देख – देख कर इस का मुखड़ा, हर इक दिशा डोली
आओ रे भक्तो ये माता है, सब की हमजोली
जो माँगोगे तुम्हें मिलेगा, भर लो रे झोली
उज्जवल-उज्जवल, निर्मल-निर्मल सुन्दर-सुन्दर माँ !

🎧 Song

Santoshi Mata Ke Bhajan

Read More Lyrics

Leave a Comment