Jaya Kishori Bhajan Lyrics

Jaya Kishori Bhajan Lyrics

 

Mera Aap Ki Kripa Se Sab Kaam Ho Raha Hai

मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है |

करते हो तुम कन्हिया,
मेरा नाम हो रहा है ||

मेरा आपकी कृपा से…

पतवार के बिना ही,
मेरी नाव चल रही है |

हैरान है ज़माना,
मंजिल भी मिल रही है ||

करता नहीं मैं कुछ भी,
सब काम हो रहा है |

करते हो तुम कन्हिया,
मेरा नाम हो रहा है ||

मेरा आपकी कृपा से…

तुम साथ हो जो मेरे,
किस चीज की कमी है |

किसी और चीज की,
अब दरकार ही नहीं है ||

तेरे साथ से गुलाम,
अब गुलफाम हो रहा है |

करते हो तुम कन्हिया,
मेरा नाम हो रहा है ||

मेरा आपकी कृपा से…

मैं तो नहीं हूँ काबिल,
तेरा पार कैसे पाऊं |

टूटी हुयी वाणी से,
गुणगान कैसे गाऊं ||

तेरी प्रेरणा से ही सब,
यह कमाल हो रहा हैं |

करते हो तुम कन्हिया,
मेरा नाम हो रहा है ||

मेरा आपकी कृपा से…

मुझे हर कदम कदम पर,
तूने दिया सहारा |

मेरी ज़िन्दगी बदल दी,
तूने करके एक इशारा ||

एहसान पे तेरा ये,
एहसान हो रहा है |

करते हो तुम कन्हिया,
मेरा नाम हो रहा है ||

मेरा आपकी कृपा से…

तूफान आंधियों में,
तूने है मुझको थामा |

तुम कृष्ण बन के आए,
मैं जब बना सुदामा ||

तेरे करम से अब ये,
सरे आम हो रहा है |

करते हो तुम कन्हिया,
मेरा नाम हो रहा है ||

मेरा आपकी कृपा से…

मेरा आपकी कृपा से,
सब काम हो रहा है |

करते हो तुम कन्हिया,
मेरा नाम हो रहा है ||

मेरा आपकी कृपा से…

He swar ki devi maa

भजन – हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो लिरिक्स
गायक – जया किशोरी
फ़िल्मी तर्ज – होंठो से छू लो तुम

हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो,
में गीत सुनाती हूँ संगीत की शिक्षा दो ||

सरगम का ज्ञान नही,
ना लय का ठिकाना है,
तुम्हे आज सभा में माँ,
हमे दरश दिखाना है |
संगीत समंदर से सुरताल हमें दे दो ||

हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो,
में गीत सुनाती हूँ संगीत की शिक्षा दो ||

शक्ति ना भक्ति है,
सेवा का ज्ञान नही,
तुम्हे आज सुनाने को,
कोई सुन्दर गान नही |
गीतों के खजानो से,
एक गीत मुझे दे दो ||

हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो,
में गीत सुनाती हूँ संगीत की शिक्षा दो ||

अज्ञान ग्रसित होकर,
क्या गीत सुनाऊ में,
टूटे हुए शब्दो से,
क्या स्वर को सजाऊँ में |
तू ज्ञान का स्त्रोत बहा,
माँ मुझपे दया कर दो ||

हे स्वर की देवी मा वाणी में मधुरता दो,
हे स्वर की देवी माँ वाणी में मधुरता दो,
में गीत सुनाती हूँ संगीत की शिक्षा दो ||

Hum Tumhare Hain Prabhu Ji

म हमारे थे प्रभुजी, तुम हमारे हो
तुम हमारे ही रहोगे, हो मेरे प्रीतम ||

हम तुम्हारे थे प्रभुजी, हम तुम्हारे हें
हम तुम्हारे ही रहेंगे, ओ मेरे प्रीतम ||

तुम्हें छोड़ सुन नन्द दुलारे
कोई न मीत हमारो ||
किस्के दुआरे जाएँ पुकारूँ
और न कोई सहारो ||
अब तो आके बाहाँ पकड़ लो, ओ मेरे प्रीतम
तुम हमारे थे प्रभुजी, तुम हमारे हो
तुम हमारे ही रहोगे, हो मेरे प्रीतम
हम तुम्हारे थे प्रभुजी, हम तुम्हारे हें
हम तुम्हारे ही रहेंगे, ओ मेरे प्रीतम

तेरे कारण सब जग छोड़ा,
तुम संग नाता जोड़ा, प्यारे ||
एक बार प्रभु बस ये कहदो,
तू मेरा में तेरा , प्यारे ||

साँची प्रीत कि रीत निबादो, ओ मेरे प्रीतम
तुम हमारे थे प्रभुजी, तुम हमारे हो
तुम हमारे ही रहोगे, हो मेरे प्रीतम
हम तुम्हारे थे प्रभुजी, हम तुम्हारे हें
हम तुम्हारे ही रहेंगे, ओ मेरे प्रीतम

दास कि बिनती सुनलीजो,
ओ व्रिज राज दुलारे ||
आखरी आस यही जीवन कि,
पूरण करना प्यारे ||
एक बार हृदय से लगालो, ओ मेरे प्रीतम
तुम हमारे थे प्रभुजी, तुम हमारे हो
तुम हमारे ही रहोगे, हो मेरे प्रीतम
हम तुम्हारे थे प्रभुजी, हम तुम्हारे हें
हम तुम्हारे ही रहेंगे, ओ मेरे प्रीतम

तुम हमारे ही रहोगे, हो मेरे प्रीतम

Achyutam Keshavam Krishna Damodaram

भजन- अच्चुतम केशवम् कृष्ण दामोदरम्,

भजन गायक- अनूप जलोटा

यहाँ Achyutam Keshavam Lyrics In Hindi दिया गया है –

अच्चुतम केशवम् कृष्ण दामोदरम्,
राम नारायणम् जानकी बल्लभम |

अच्चुतम केशवम् कृष्ण दामोदरम्,
राम नारायणम् जानकी बल्लभम |

कौन कहतें है भगवान आते नहीं,
तुम मीरा के जैसे बुलाते नहीं |

अच्चुतम केशवम् कृष्ण दामोदरम्,
राम नारायणम् जानकी बल्लभम |

कौन कहतें है भगवान खाते नहीं,
बेर शबरी के जैसे खिलाते नहीं |

अच्चुतम केशवम् कृष्ण दामोदरम्,
राम नारायणम् जानकी बल्लभम |

कौन कहतें है भगवान सोते नहीं,
माँ यशोदा के जैसे सुलाते नहीं |

अच्चुतम केशवम् कृष्ण दामोदरम्,
राम नारायणम् जानकी बल्लभम |

कौन कहतें है भगवान नाचते नहीं,
गोपियों की तरह तुम नचाते नहीं |

अच्चुतम केशवम् कृष्ण दामोदरम्,
राम नारायणम् जानकी बल्लभम |

नाम जपते चलो काम करते चलो,
हर समय कृष्ण का ध्यान करते चलो |

अच्चुतम केशवम् कृष्ण दामोदरम्,
राम नारायणम् जानकी बल्लभम |

याद आएगी उनको कभी न कभी,
कृष्ण दर्शन तो देंगे कभी न कभी।

अच्चुतम केशवम् कृष्ण दामोदरम्,
राम नारायणम् जानकी बल्लभम |

अच्चुतम केशवम् कृष्ण दामोदरम्,
राम नारायणम् जानकी बल्लभम ||

Leave a Comment